HTML/JavaScript

संकुल समन्वयक को पदस्थ शाला में 3 कालखंड अध्यापन कराना अनिवार्य - आदेश जारी | CAC Teach 3 Periods In Posted School ,It Is Mandatory

CAC के लिए तीन कालखंड अनिवार्य - 2 अगस्त से खुल रहे स्कूल 

छग में नए संकुल केंद्र बनाये जाने के साथ ही उनमे संकुल समन्वयकों की नई नियुक्ति  की गयी है। नए संकुल केंद्रों में हाई या हायर  सेकेंडरी स्कूल  प्राचार्यों को संकुल प्राचार्य (संकुल प्रभारी) नियुक्त किया गया है। 

नए संकुल केंद्र बनने के बाद शिक्षा व्यवस्था में सुधार के साथ साथ कसावट की उम्मीद की जा रही है। इससे पहले जो संकुल केंद्र थे उनमे ज्यादा संख्या में स्कूल हुआ करता था - कई संकुल तो ऐसे थे जिनमे 25 से 30 स्कूल शामिल थे। अब नए संकुल बनने के बाद स्कूलों की संख्या कम हो गयी है कुछ नए संकुल तो ऐसे है जहां 3 या 4 स्कूल ही है। 


शिक्षा विभाग द्वारा संकुल समन्वयक नियुक्ति के समय ही ये आदेश जारी कर दिए थे कि - संकुल समन्वयकों को पहले अपने पदस्थ शाला में उपस्थित होकर 3 कालखंड अध्यापन कार्य करना है ,उसके बाद ही संकुल के अन्य कार्य का संपादन करना होगा। 

CAC को शाला में 3 पीरियड लेना अनिवार्य -आदेश जारी 

जैसे कि आपको मालूम ही है संकुल समन्वयक का कार्य स्कूलों में निरिक्षण के साथ साथ शिक्षकों को नियमित मार्गदर्शन और नवाचार से अवगत कराना  और शासन के विभिन्न कार्ययोजना का सञ्चालन करना होता है। 

संकुल समन्वयक को इन सब कार्यों के संपादन के पूर्व अपने पदस्थ शाला में प्रतिदिन कम से कम तीन कालखंड अध्यापन कार्य भी करना होगा। इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा भी आदेश जारी किया गया है।यहाँ पर मुंगेली जिले का आदेश अपलोड किया गया है ,अन्य जिले से भी इस प्रकार का आदेश जारी हो चूका है।  आदेश का लिंक नीचे दिया गया है जिसमे क्लिक करके आप डाउनलोड कर सकते है। 

DEO का आदेश डाउनलोड करें 

जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा सभी अधीनस्थ विकासखंड शिक्षा अधिकारी और विकासखंड श्रोत समन्वयक को लेटर जारी किया है जिसमे संकुल समन्वयक द्वारा प्रतिदिन लिए गए तीन कालखंड की जानकारी विषयवार और कक्षा वार मांगी गयी है। 

संकुल समन्वयकों के द्वारा लिए जाने वाले कालखंड का निरिक्षण विकासखंड स्तर के अधिकारीयों को करने का आदेश दिया गया है। 

शासन के इस आदेश से स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था में काफी परिवर्तन आएगा ,जिसका सीधा लाभ बच्चों को मिलेगा। 2 अगस्त से राज्य में स्कूलों को खोलने की अनुमति दे दी गयी है। जिसमे कक्षा 1 से 8 तक कक्षा सञ्चालन के लिए सम्बंधित ग्राम पंचायत के पालक समिति की अनुसंसा अनिवार्य है।  

2 अगस्त से इन शर्तों पर लगा सकते है स्कूल में क्लास - पूरी जानकारी देखें 

Post a Comment

0 Comments