HTML/JavaScript

शिक्षकों की नई नियुक्ति शुरू -लेकिन पदोन्नति और क्रमोन्नति कब ? हर माह 10 से 15 हजार का आर्थिक नुकसान

 शिक्षकों को पदोन्नति और क्रमोन्नति कब मिलेगी ? 

शिक्षा विभाग में लम्बे समय के बाद लगभग 26 वर्ष के पश्चात् नियमित शिक्षकों की भर्ती शुरू हुई है। इस नियमित भर्ती के लिए यदि श्रेय की बात करें तो -इसका श्रेय शिक्षाकर्मी जो अभी एल बी संवर्ग के शिक्षक है उनको जाता है। क्योंकि ये वर्ग लगातार इसके आंदोलन किये है कि शिक्षकों का पद रेगुलर हो और नियमित शिक्षकों की ही भर्ती हो। 

साथियों जैसे कि आपको मालूम होगा छग के स्कूलों में शिक्षकों के हजारों पद रिक्त है ,संस्था प्रधान के पद रिक्त है ,विषय शिक्षक के पद रिक्त है ,लेकिन शासन इस ओर बिलकुल ध्यान नहीं दे रही है। 


चुनावी समय में शिक्षकों के लगभग 15000 हजार पदों में भर्ती की प्रक्रिया शुरू की गयी थी जिसे 2 वर्ष बाद अब अंतिम रूप देने की प्रक्रिया चल रही है ,उसमे भी अभी सभी चयनित शिक्षकों को नियुक्ति नहीं दी गयी है। 

व्याख्याता वर्ग की नियुक्ति के लिए पिछले दिनों आदेश जारी किये गए है जिसे इस महीने ज्वाइन करना है। ये सभी पद नियमित है। शिक्षक और सहायक शिक्षकों को नियुक्ति कब मिलेगी इसका अभी कोई निश्चित तिथि जारी नहीं हुआ है। 

पदोन्नति के हजारों पद रिक्त 

स्कूलों में विभिन्न वर्गों के शिक्षकों के हजारों पद रिक्त है जिसमे पदोन्नति से भरे जाने वाले पद भी है। जैसे - प्रधान पाठक के पद ,शिक्षक के पद ,व्याख्याता के पद -ये सभी पदोन्नति से भी भरे जाते है। 

सहायक शिक्षकों की बात करें तो ये 15 से 20 वर्ष तक एक ही पद में कार्य कर रहे है। इन्हे न तो पदोन्नति मिल रही है और न ही क्रमोन्नति। ऐसे में सहायक शिक्षकों को प्रतिमाह 15 से 20 हजार का आर्टिकल नुक्सान हो रहा है। 

वर्षों से कार्य कर रहे शिक्षक हो जायेंगे जूनियर 

नियमित भर्ती के बाद अब वर्तमान में कई वर्षों से कार्य करने वाले शिक्षक नए नियुक्त शिक्षकों से जूनियर हो जायेंगे क्योंकि जो पद पदोन्नति से भरे जायेंगे उसे शासन ने अभी तक पूरा नहीं किया है। इसे आप आसान भाषा में समझ  सकते है। 

जैसे जो अभी शिक्षक या उच्च वर्ष शिक्षक है उनकी पदोन्नति व्याख्याता के पदों में होना है। कई ऐसे शिक्षक है जो 10,15 और 20 वर्ष से इस पद में है और पदोन्नति का इन्तजार कर रहे है। लेकिन अभी तक पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। 

नए नियुक्ति के बाद यदि अब इन्हे पदोन्नति दिया जाता है तो उस पद में वरिष्ठा के आधार पर ये जूनियर हो जायेंगे ,इसलिए कोई भी नए भर्ती के बाद पहले उस पद  पदोन्नति दिया जाता है। 

सहायक शिक्षकों की पदोन्नति शिक्षक के पद में होना है लेकिन इसका कोई भी पता नहीं है , इसके साथ ही नए भर्ती के अंतर्गत शिक्षक के पद में नई नियुक्ति जल्द ही होने वाली है ऐसे में जो सहायक शिक्षक 10 से 15 साल या इससे भी अधिक समय तक एक ही पद में कार्य कर रहे है उनका प्रमोशन नियुक्ति के बाद हुआ तो वे भी शिक्षक पद में वरिष्ठता के आधार पर जूनियर हो जायेंगे। 

सहायक शिक्षकों को क्रमोन्नति का पूरा अधिकार 

साथियों जैसे कि आप सभी को मालूम है सहायक शिक्षक एल बी जो पहले शिक्षा कर्मी वर्ग 03 थे ,ये वर्ग सबसे कम वेतन में काम कर रहे है और शोषण का शिकार भी सहायक शिक्षक ही सबसे ज्यादा हुए है। 

आपको बता दें कि 20 से 22 वर्षों तक एक ही पद में काम करने के बाद भी सहायक शिक्षकों को न तो पदोन्नति मिल पाया है और न ही क्रमोन्नति। इसलिए शासन को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है ,क्योंकि कुछ सहायक शिक्षक ऐसे है जो रिटायरमेंट होने वाले है और कुछ हो भी गए है। 

यदि सहायक शिक्षकों को क्रमोन्नति या पदोन्नति नहीं मिलेगा तो आखिर में उन्हें कुछ भी हासिल नहीं होगा। वैसे भी प्रतिमाह 10 से 15 हजार का आर्थिक नुक्सान झेल ही रहे है। 

सहायक शिक्षकों का वेतन विसंगति कोई नई बात नहीं है ,इसके लिए कई शिक्षक संगठनों ने सरकार से मिलकर चर्चा भी किये है लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया है।

पदोन्नति 5 वर्ष में और क्रमोन्नति 10 वर्ष में 

शिक्षा विभाग के नियमावली की बात करें तो शिक्षकों को पदोन्नति पात्रता 5 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर हो जाती है। इसी प्रकार क्रमोन्नति के लिए एक ही पद में 10 वर्ष की सेवा निर्धारित की गयी है। 

एल बी संवर्ग की बात करें तो शासन का तर्क है कि शिक्षा विभाग में इनकी सेवा संविलियन तिथि से मणि जाएगी ऐसे में एल बी संवर्ग के शिक्षकों को संविलियन के बाद पदोन्नति के लिए 5 वर्ष और क्रमोन्नति के लिए 10 वर्ष का इन्तजार करना पड़ सकता है। जो किसी भी तरीके से सही नहीं है। 

शिक्षकों के हितों को ध्यान में रखते हुए शासन को पदोन्नति और क्रमोन्नति उनके प्रथम नियुक्ति तिथि को आधार मानकर करना चाहिए। साथियों इस लेख को अधिक से अधिक शेयर करें जिससे हमारे साथियों के परेशानियों से अन्य लोग भी अवगत हो और उनके अधिकार को जान सकें। 

शिक्षा विभाग और शिक्षकों से सम्बंधित नए नए और लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए abdsnews.com पर नियमित विजिट करें। इसे आप सीधे गूगल में भी सर्च करके यहां पहुँच सकते है। 

Post a Comment

0 Comments