HTML/JavaScript

छत्तीसगढ़ में स्कूल कब खुलेंगे - ABDSNEWS ने शुरू की सर्वे ,,,,आप भी दे सकते है अपनी राय - कैसे शामिल होंगे इस सर्वे में यहाँ देखें

 छत्तीसगढ़ में स्कूल कब खुलेंगे -अपनी राय यहाँ दर्ज करें 

छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना की रफ़्तार इन दिनों बहुत तेजी से बढ़ने लगी है। अभी वर्तमान में कुछ दिनों की बात करें तो छग में प्रतिदिन  कोरोना मरीज पहचान किये जा रहे है। सभी नागरिकों को ABDSNEWS इस संकट काल में सावधानी बरतने की सलाह देती है। 

साथियों आप सभी को हम कहना चाहेंगे कि -आप कोरोना को मजाक में न लें ,और अपनी सुरक्षा स्वयं सुनिश्चित करें। अर्थात आप कोविड -19 से बचाव हेतु जारी गाइडलाइन का पालन करें। 

स्कूल कब खुलेंगे

WHO और स्वास्थ्य विभाग से जारी किये गए सुरक्षा  मानकों का पालन जरूर करें ,जैसे - घर से बाहर निकलने पर फेस मास्क जरूर लगाएं , भीड़ वाले जगहों पर जाने से बचें , साबुन से नियमित हाथ जरूर धोएं , योगासन करें ,प्राणायाम करें , अपने इम्यून सिस्टम को एक्टिव रखें। 

प्रिय पाठकों  आप सभी सादर नमस्कार- साथियों आज के आर्टिकल में हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा करने वाले है , और हम उम्मीद करते  आप  चर्चा में शामिल जरूर होवें। 

आज के लेख में हम छग राज्य में स्कूल खुलने की संभावनाओं  के बारे में आपको बताने वाले है और साथ में एक सर्वे  के माध्यम से स्कूल खोले जाने के निर्णय का आंकलन भी करेंगे। 

कब खुलेंगे स्कूल - When Open School 

कोरोना के इस संकट काल में सभी स्कूल और कॉलेज पिछले छह महीने से बंद है। केंद्र की ओर से अनलॉक 4 की गाइडलाइन जारी किये गए है जिसमे अभी  स्कूल और कॉलेज को बंद रखने के निर्देश दिए गए है। 

कुछ दिन पहले केंद्र से जारी निर्देश में  कहा गया है कि 21 सितंबर से शिक्षक नियमानुसार स्कूल जा रहे है। इस दौरान कोविड -19 से बचाव  के गाइडलाइन का पालन पालन करना अनिवार्य होगा। 

बच्चों की बात करें तो उनके लिए कहा गया है कि पालकों की सहमति से बच्चे स्कूल जाकर शिक्षकों से अपनी समस्या का समाधान ले सकते है। लेकिन इसमें नियमित क्लास सञ्चालन की बात नहीं की गयी है। 

केंद्र के गाइडलाइन में  जो बच्चे स्कूल जा सकते है उनमें कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक बच्चों को शामिल किया गया है ,ये बच्चे अपने पालकों के लिखित सहमति से स्कूल जाकर शिक्षकों से अपनी समस्या का समाधान ले सकते है। 

छग में स्कूल कब खुलेंगे 

छग में स्कूल खुलने को लेकर पिछले दिनों शासन की ओर से  कहा है कि कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखकर ही स्कूल खोलने सम्बन्धी निर्णय लिया जायेगा। इसका सीधा अर्थ समझें -यदि कोरोना संक्रमण में कमी आएगी तभी स्कूल खोलने की अनुमति दी जाएगी। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार फरवरी  माह से स्कूल खुल सकते है ,इसके लिए पालकों से भी सहमति लिया जायेगा। इसके साथ ही विभिन्न माध्यम से भी सर्वे की जा  रही है। इस सर्वे में आप भी अपनी राय जरूर दें क्योंकि नागरिकों /पालकों के राय के आधार पर भी सरकार निर्णय ले सकती है। 

यहां दें अपनी राय 

कोरोना संकट काल में स्कूल सञ्चालन आसान नजर नहीं आता है लेकिन फिर भी यदि स्थिति सामान्य होते दिखी और पालकों की सहमति और विचार का ग्राफ अच्छा रहा तो आने वाले दिनों में धीरे धीरे स्कूल खोले जायेंगे। 

Abdsnews द्वारा भी लोगों की राय संकलन किया जा रहा है ,आप भी  स्कूल खुलने के बारे में अपनी राय दे सकते है। आप अपनी राय -  सहमति /असहमति  नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से दे सकते है। अपने विचार -के साथ - अपना नाम जरूर लिखें।  

इस समय स्कूल खुलने के बारे में आप क्या सोचते है अपनी व्यक्तिगत विचार आप हमें कमेंट करके जरूर भेजें। कमेंट बॉक्स नीचे दिया गया है। आपका विचार अपने सर्वे में शामिल जरूर करेंगे। धन्यवाद। 

Post a Comment

24 Comments

  1. जब तक वैक्सीन नहीं लग जाती तब तक बच्चों को स्कूल नहीं जाना चाहिए। इसके लिए कोई समय निर्धारित नहीं किया जा सकता कि स्कूल कब खोला जाए क्योंकि जान है तो सब है।बच्चों के साथ रिस्क नहीं लेना चाहिए।

    ReplyDelete
    Replies
    1. बच्चों के साथ रिस्क नहीं लेनी चाहिए ,,, आपका विचार सही है सर .

      Delete
  2. वेक्सीन के आते तक स्कूल नही खुलने चाहिए।

    ReplyDelete
    Replies
    1. वैक्सीन आने में अभी काफी वक्त लगेगा ,,,,फिर भी आपका विचार हम शामिल करते है सर .

      Delete
  3. अभी स्कूल बिलकुल भी नहीं खुलना चाहिए, क्योंकि अभी संक्रमण बहुत तेजी से फ़ैल रहा है !पहले जीवन बाद में शिक्षा !अभी स्कूल खोलने से सामुदायिक संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका, जिसे नियंत्रित कर पाना बेहद कठिन शाबित होगा !अतः अभी स्कूल न खुलना ही सबके हित में है !

    ReplyDelete
    Replies
    1. स्कूल खुलने से सामुदायिक संक्रमण का खतरा बढेगा इसलिए अभी स्कूल नहीं खुलना चाहिए ,,,,,,आपकी राय से हम सहमत है सर .,,,,आपके विचार को शामिल कर लिया गया है .

      Delete
  4. बिलकुल खुलना चाएिए

    ReplyDelete
    Replies
    1. स्कूल कब तक खुलना चाहिए कश्यप जी ,,, इसके बारे में लिखने की कृपा करें .

      Delete
  5. अभी स्कूल खोलना बहुत ही जोखिम भरा होगा, खास कर बच्चों और उनके पालको के लिए। यदि बच्चों में संक्रमण फैला तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। मेरे हिसाब से तो वैक्सीन आने तक विद्यालय बंद ही रखना उचीत होगा। क्योंकि बच्चों की पढ़ाई तो ऑनलाइन, मुहल्ला क्लास से किसी प्रकार चल ही रह है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. क्या आप मोहल्ला क्लास से सहमत है सर ? ? वैक्सीन आने में अभी कोई समय लिमिट नहीं है ,,और ये बात भी सही है कि जब तक वैक्सीन नहीं आता तब तक सभी को खतरा है ,,,स्चूली बच्चों को बहुत खतरा है .

      Delete
  6. Ok yes khulna chahiye bt puri saavdhaani k sath

    ReplyDelete
    Replies
    1. कौन कौन से सावधानी रखनी चाहिए कृपया बताएं सर ?

      Delete
  7. वैसे तो अभी ऑनलाइन पढाई चल रहा है।परंतु ये काफी नही है।इससे सिर्फ 10% बच्चे ही जुड़ते हैं।मोहल्ला क्लास चालू किया गया है।।पर कोरोना खतरा तो उसमें भी है।सभी बच्चे मोहल्ला पढाई में भी नही आते। ऐसी स्थिति में स्कूल खुल जाना ही बेहतर रहेगा।लेकिन कोरोना से बचाव के अधिकांश उपाय को पालन करके।

    ReplyDelete
    Replies
    1. मोहल्ला क्लास के बजाय स्कूल में पढाई करने से ज्यादा सुरक्षित रहेंगे बच्चे ,,,लेकिन सभी बच्चों को स्कूल बुलाना भी खतरा हो सकता है ,,,,ऑनलाइन क्लास ज्यादा सुरक्षित है ,,,आपका विचार सही है फागुलाल पटेल जी ,,,,आपके विचार को शामिल कर लिया गया है .

      Delete
  8. Plish open school खुलना चाहिये स्कूल sub bacche apna dhyan rkenge 9th to 12th. Ayse bhi bacche to ghum he rhe hay ghar ke bahar mask lga ke to school bhi jayenge or aades kaa palan krenge

    ReplyDelete
    Replies
    1. SCHOOL KHULNE KA INTJAAR SABHI KO HAI SIR .... AAPKA VICHAR BHI THIK HAI ,,,9TH TO 12TH STUDENTS KE LIYE SCHOOL PAHLE KHULEGA USKE BAAD DHIRE SE CHHOTE CLASS.....

      Delete
  9. Mohalla class main padhaane ke bajaye school mein padhna, padhana surakshit rahega ,sabh class ko ek sath nahin bulana chahie, Bari Bari se ek-ek class Ko bulana chahie, Puri savdhani ke sath.

    ReplyDelete
    Replies
    1. School ko senetize karakar baribari se ek ek class ko bulaya ja skta hai ,,,,aapka vichar sahi hai sir.

      Delete
  10. विद्यालय खोलना मतलब जिंदगी को दाव में लगाना

    ReplyDelete
  11. Cg me mohalaa class band hona chahiye.

    ReplyDelete
  12. Mohalla class me pure bachche nhhi aate pdhne. Ese band kiya jay jyada uchit h school khil diya jay

    ReplyDelete
  13. School khol diya jaye covid 19 ki protocol ko follow karte hue

    ReplyDelete