HTML/JavaScript

One Nation One Rashan Card . वन नेशन वन राशन कार्ड की घोषणा | क्या है वन नेशन वन राशन कार्ड।



वन नेशन वन राशन कार्ड (One Nation One Rashan Card )

वन नेशन वन राशन कार्ड (one nation one rashan card ) पुरे देश में लागु किया जायेगा। इस योजना की पूरी जानकारी आज के आर्टिकल में बताया गया है। यह भारत के सभी नागरिकों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए। 
केंद्र सरकार ने कोरोना संकट में देश के नागरिकों के लिए एक बड़ी राहत पैकेज की घोषणा की है। प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने सम्बोधन में 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की है जिसके बारे में वित्त मंत्री सीता रमण के द्वारा क्रम से विभाजन किया गया है।



20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज को किस्तों में वित्त मंत्री जी के द्वारा प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से देश को अवगत कराया गया  है। इस कड़ी में वन नेशन वन राशन कार्ड की घोषणा भी वित्त मंत्री के द्वारा किया गया है।

प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के नाम सम्बोधन में इस बात का जिक्र भी किया है और वन नेशन वन राशन कार्ड को पुरे देश में लागु करने की योजना बना ली गयी है। आज इसी के बारे में आपको विस्तार से समझाते है। 

क्या है वन नेशन वन राशन कार्ड 



जैसे कि नाम से ही स्पष्ट है वन नेशन वन राशन कार्ड (One Nation One Rashan Card )अर्थात एक देश एक राशन कार्ड। इस योजना के तहत देश में रहने वाले किसी भी नागरिक का एक ही राशन कार्ड होगा और वे देश में किसी भी राज्य से राशन ले सकेंगे। 

One Nation One Rashan Card योजना का लाभ उन लोगों को मिलेगा जिनके पास राशन कार्ड होगा। साथ ही इस स्कीम के अंतर्गत राशन कार्ड धारक देश के किसी भी हिस्से की राशन दूकान से उचित मूल्य पर राशन खरीद सकेंगे। 

पुरे देश में लागु होगी One Nation One Rashan Card 

यह स्कीम पुरे देश में लागु होगी और किसी भी राज्य के व्यक्ति अन्य राज्य के उचित मूल्य की दूकान से राशन खरीद सकेंगे ,जिनके पास राशन कार्ड है। अभी वर्तमान में कुछ राज्यों में यह स्कीम चल रही है और अगस्त 2020 तक इसे पुरे देश में लागु करने का प्लान चल रहा है।इसके लिए पूरी योजना भी बना लिया गया है।  

राशन कार्ड नहीं होने पर भी मिलेगा 5 किलो गेंहूं और  चावल 

वित्त मंत्री ने उन लोगों को भी बड़ी राहत देते हुए घोषणा की है जिनके पास अभी राशन कार्ड नहीं है। उनहोंने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उनको 5 किलो गेंहूं और चावल के साथ एक किलो चना की मदद की जाएगी। 

इसका फायदा 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को होगा जिनके लिए 3500 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे। राज्य सरकारों के माध्यम से इसे कारगार बनाया जाएगा क्योंकि राज्य सरकारों के पास इन मजदूरों की जानकारी है। यह स्कीम लगभग दो महीने में लागु हो जाएगी।

योजना से मिलने  वाले लाभ देखें 


  •  योजना से गरीबों को सबसे बड़ा फायदा मिलेगा। 
  • एक स्थान से दूसरे स्थान पर शिफ्ट होने वालों को इस्ला लाभ मिलेगा। 
  • फर्जी राशन कार्ड पर रोक लगाने में कारगार साबित होगा। 
  • सभी राशन कार्डों को आधार कार्ड  जोड़ने और POS मशीन के माध्यम से अनाज वितरण शुरू हो सकेगी। 
  • राशन कार्डों की पोर्टेबिलिटी हो सकेगी। 
  • देश किसी भी राशन दुकान से राशन लिया जा सकेगा। 
  • केंद्रीय भण्डारण बनाया जा सकेगा। 
इन राज्यों में शुरू हो चूका है वन नेशन वन राशन कार्ड 

वन नेशन वन राशन कार्ड " एक राष्ट्र एक राशन कार्ड " योजना को 1 जून 2020 से पुरे देश में शुरू किया जायेगा। इस योजना में पुराने राशन कार्ड भी मान्य होगा। अब तक देश के 12 राज्यों में एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना की शुरुआत हो चुके ये राज्य इस प्रकार है। 
  1. आँध्रप्रदेश 
  2. तेलंगाना 
  3. गुजरात 
  4. महाराष्ट्र 
  5. हरियाणा 
  6. राजस्थान 
  7. कर्नाटक 
  8. केरल 
  9. मध्यप्रदेश 
  10. गोवा 
  11. झारखण्ड 
  12. त्रिपुरा 
इन 12 राज्यों के अलावा शामिल किये गए 5 नए राज्यों  उत्तर प्रदेश ,बिहार ,पंजाब ,हिमाचल प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेश दादर नगर हवेली तथा दमन व् दीव को मिलाकर अब इनकी संख्या 17 हो गयी है। 

One Nation One Rashan Card (वन नेशन वन राशन कार्ड)  के बारे में सरकार की प्लानिंग बारे  हमारे अगले आर्टिकल में बताया जाएगा। पूरी जानकारी के लिए आप www.abdsnews.com पर विजिट करें। .

इस महत्वपूर्ण जानकारी को अन्य लोगों में भी जरूर शेयर करें ,जिससे सभी सरकार  की  इस महत्वाकांक्षी योजना के बारे में जान सके और उन्हें इसका  लाभ मिल सकें। धन्यवाद। 

Post a Comment

0 Comments