HTML/JavaScript

शिक्षाकर्मियों के संविलियन के बाद वेतन 40,000 से भी ज्यादा होगा ,,,,,पदनाम भी बदल जायेंगे ,,,,,,जानने के लिए यहाँ देखें



संविलियन के बाद वेतन 40,000 + ,,,पदनाम भी बदलेगा 
(AbdsNews): शिक्षाकर्मियों की बहुप्रतीक्षित मांग संविलियन आखिरकार पूरा हो गया है। छग में शिक्षाकर्मियों ने अपने संविलयन के लिए लम्बी लड़ाई लड़ी है तब कहीं जाकर आज पुरे शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा हो पाया है। आपको आज कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े बताने वाले है जो वेतन के सम्बन्ध में है। 


वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट ने शिक्षाकर्मियों को ख़ुशी से भर दिया है क्योंकि सरकार ने उनकी सम्पूर्ण संविलियन की मांग को पूरा करते हुए जुलाई 2020 में सभी बचे हुए शिक्षाकर्मियों की संविलियन की घोषणा कर दिया है। 

शिक्षाकर्मियों के आंदोलन के बारे में यदि बात करें तो ये काफी लम्बे समय तक चलता रहा ये लड़ाई लगभग 24 साल तक चलता रहा और वर्ष 2018 में शिक्षाकर्मियों की जीत हुई जिसमे पिछले सरकार द्वारा लगभग 1 लाख 3 हजार शिक्षाकर्मियों का संविलियन शिक्षाविभाग में किया गया। 
  •  ऑनलाइन वेतन केलकुलेटर ,,,,,अपने वेतन  की जानकारी प्राप्त करें 


संविलियन की प्रक्रिया वर्ष 2018 में जून माह में शुरू कर दिया गया था जिसमे जुलाई से ही उन्हें संविलयन कर लिया गया और शिक्षा विभाग के सरकारी कर्मचारी मान लिया गया। और अब जुलाई और जनवरी में ये प्रक्रिया निरंतर चलता रहा और साल में दो बार -8 वर्ष पूरा करने वाले शिक्षाकर्मियों को शिक्षा विभाग में संविलियन हो रहा है। 

बजट में अब सभी बचे हुए लगभग 16000 शिक्षाकर्मियों को शिक्षा विभाग में संविलियन माह जुलाई 2020 में कर दिया जायेगा और उन्हें भी सरकारी कर्मचारी के रूप में नियत समय में और नियमित वेतन और सुविधाएँ मिलने लगेगा।   

संविलियन के बाद ,,पदनाम ,,बदल जायेगा 

संविलियन के बाद शिक्षाकर्मी  का नाम खत्म हो जायेगा और उन्हें क्रमशः सहायक शिक्षक ,शिक्षक और व्याख्याता के रूप में जाना जायेगा। जैसे कि इससे पहले भी संविलियन प्राप्त शिक्षाकर्मियों को पदनाम दिया गया है शासन ने इन्हे एक अलग संवर्ग में रखा है। उस संवर्ग का नाम है एल बी संवर्ग। 

,,ई एल बी,, और ,,टी एल बी,, संवर्ग 

संविलियन होने के बाद शिक्षा कर्मियों को नियमित शिक्षक का दर्जा मिल जायेगा और उन्हें एक अलग संवर्ग में रखा जायेगा। जैसे जो शिक्षाकर्मी अभी शिक्षा विभाग के स्कूल में कार्यरत है उन्हें ई एल बी संवर्ग  और जो आदिम जाति विभाग के स्कूल में कार्यरत है उन्हें टी एल बी संवर्ग में रखा जायेगा। 

पदनाम के साथ ,,एल बी ,,नहीं जुड़ेगा 



Join Whatsapp Group 

संविलियन के बाद शिक्षाकर्मियों के पदनाम सहायक शिक्षक ,शिक्षक और व्याख्याता के रूप में होगा। साथ ही आपको यहाँ ये जानना भी जरुरी है कि उनके पदनाम के साथ ई एल बी और टी एल बी नहीं लिखा जायेगा। 

जिस प्रकार अभी वर्तमान में जो ई और टी  विभाग में नियमित शिक्षक ,व्याख्याता ,प्रधान पाठक है उनके नाम के साथ ई और टी नहीं लिखा जाता क्योंकि ई और टी उनका संवर्ग है पदनाम नहीं। 

संविलियन के बाद मिलेगा ये वेतनमान 




संविलियन के बाद  वेतन की गणना एल पी सी के आधार पर किया जायेगा। अर्थात शिक्षाकर्मी के रूप में अंतिम माह का वेतन कितना बनेगा उसी आधार पर आगे सातवां वेतन के लिए मूल वेतन निर्धारित करके ही वेतन का निर्धारण किया जायेगा।

👉 संविलियन के बाद वेतन गणना के लिए यहाँ देखें 

वर्ष 2018 में भी एल पी सी के आधार पर सातवां वेतन निर्धारित किया गया था और आगे संविलियन के दायरे में आने वाले सभी शिक्षाकर्मियों के लिए इसी नियम के आधार पर वेतन दिया जा रहा है। 

40,000 से भी अधिक होगा वेतन 



शिक्षकों का वेतन संविलियन के बाद 40 हजार से भी अधिक हो जायेगा ये वेतन अलग अलग वर्गों के लिए अलग अलग होगा।

शिक्षाकर्मी  वर्ग 01- जो अब व्याख्याता होंगे उनका वेतन 39000 रूपये से 51000  रूपये तक मिलेगा। 

शिक्षाकर्मी वर्ग 02 -जो अब शिक्षक होंगे उनका वेतन 38000 रूपये से 48000 रूपये तक मिलेगा। 

शिक्षाकर्मी वर्ग 03 -जो अब सहायक शिक्षक होंगे उनका वेतन 27000 रूपये से 38000 रूपये तक मिलेगा। 

वेतन की गणना से संबधित पूरी जानकारी आपको अगले पोस्ट में बताया जायेगा। साथ ही शिक्षकों से सम्बंधित अन्य सभी जानकारी भी abdsnews.com  के माध्यम से दिया जाता है। नियमित जानकारी प्राप्त करने के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहें।

ये भी पढ़ें 

  • सहायक शिक्षक का वेतन निर्धारण कैसे किया गया ,,,,प्रतिमाह आर्थिक नुकसान 


  •  ऑनलाइन वेतन केलकुलेटर ,,,,,अपने वेतन  की जानकारी प्राप्त करें 

Post a Comment

1 Comments